HOLI 2024 

फाल्गुन शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा की  रात होलिका दहन किया जाता है  और इसके अगले दिन होली मनाई जाती है।

इस साल होली 25 मार्च यानी  सोमवार को मनाई जाएगी।

हिन्दू धर्म के अनुसार होलिका दहन मुख्य रूप से भक्त प्रह्लाद की याद में किया जाता है।     

प्रह्लाद के पिता हिरण्यकश्यप को उनकी ईश्वर भक्ति अच्छी नहीं लगती थी इसलिए  उन्होंने ने प्रह्लाद को अनेकों प्रकार के कष्ट दिए।

उनकी बुआ होलिका को ऐसा वस्त्र वरदान में मिला हुआ था जिसको पहन कर आग में बैठने से उसे आग नहीं जला सकती थी।

होलिका भक्त प्रह्लाद को मारने के  लिए वह वस्त्र पहनकर उन्हें गोद में लेकर आग में बैठ गई।

भक्त प्रह्लाद की विष्णु भक्ति के फलस्वरूप होलिका जल गई और प्रह्लाद का बाल भी बांका नहीं हुआ।  

तब से शक्ति पर भक्ति की जीत की ख़ुशी में यह पर्व मनाया जाने लगा।