खून से रंगा छत्तीसगढ़ : शहीद जवानों का बदला कब लिया जाएगा सीएम साय सरकार…

रायपुर। छत्तीसगढ़ में नक्सली आये दिन पुलिस जवानों को खून से लथपत कर मौत के घाट उतार रही है. परिजनों के हाथों में शहीद बेटों का कफ़न मिल रहा है. साय सरकार क्यों नक्सलियों को जड़ से ख़त्म नहीं कर रही है. अब आप ही बताइये कि सरकार बड़ा या नक्सली ?
छत्तीसगढ़ में कल एक बार फिर नक्सलियों का कायराना करतूत सामने आया है. वही सुकमा और बीजापुर की सीमावर्ती क्षेत्र टेकलगुड़ेम गांव में नए सुरक्षा कैंप स्थापित करने के बाद गस्त पर निकले सुरक्षा बल के जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई, जिसमें 3 जवान शहीद हुए हैं. वहीं 14 जवान घायल हैं.घायल जवानों की स्थिति खतरे से बाहर है. सभी को इलाज के लिए रायपुर भेजा जा रहा है.
मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने आज बस्तर जिले के करनपुर स्थित 201 कोबरा सीआरपीएफ कैंप पहुंचकर वहां टेकलगुड़ेम गांव में (थाना जगरगुण्डा जिला सुकमा) नक्सल मुठभेड़ में शहीद जवानों के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।
उन्होंने 201 कोबरा बटालियन के जवानों से मुलाकात कर उनके साहस और जज्बों की सराहना करते हुए जवानों का मनोबल बढ़ाया। अब देखना ये होगा की सीएम साय सरकार नक्सलियों को जड़ से ख़त्म करती है या फिर ऐसे ही आगे भी जवानों के पार्थिव शरीर पर पुष्पचक्र अर्पित करती रहती है ?

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here