आज राष्ट्रीय किसान दिवस , जानें इसका महत्व और इतिहास , आखिर कब हुई थी इसकी शुरुआत…

भारत में हर साल 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस मनाया जा रहा है। प्राचीन काल से भारत कृषि प्रधान देश माना जाता रहा है। हमारे देश में किसानों को अन्नदाता का दर्जा प्राप्त है। अनुमान के मुताबिक भारत के लगभग 60 प्रतिशत लोग कृषि पर निर्भर हैं। देशभर के किसानों के योगदान को लेकर कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं।
कब हुई थी शुरुआत
हमारे देश में राष्ट्रीय किसान दिवस मनाने की शुरुआत वर्ष 2001 से की गयी। 2001 के बाद प्रतिवर्ष पूर्व प्रधानमंत्री द्वारा किसानों के लिए किये गये कार्यों और किसानों को सम्मान देने के लिए इस दिन को मनाया जा रहा है।
आखिर 23 दिसंबर को ही क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय किसान दिवस
दरअसल, भारत के पांचवें प्रधानमंत्री और किसानों के मसीहा चौधरी चरण सिंह की जयंती के मौके पर हर साल यह खास दिन मनाया जाता है। चौधरी चरण सिंह को भारतीय किसानों की स्थिति में सुधार लाने का श्रेय दिया जाता है। चौधरी चरण सिंह का जन्म 23 दिसंबर, 1902 को उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले के नूरपुर गांव में एक मध्यमवर्गीय किसान परिवार में हुआ था, वह सान 1979-1980 के बीच भारत के प्रधानमंत्री रहे।
देश में कई किसान-अनुकूल भूमि सुधार नीतियों में योगदान दिया। वो खुद भी किसान परिवार से होने के कारण किसानों की समस्या और स्थिति से अच्छी तरह वाकिफ होते थे, इसलिए उन्होंने किसानों के लिए कई सुधार कार्य किए थे। आपको बता दें, 2001 में तत्कालीन सरकार ने चरण सिंह की जयंती को किसान दिवस के रूप में नामित किया।
राष्ट्रीय किसान दिवस का महत्व
किसान को अन्नदाता या धरती पुत्र भी कहा जाता है। पूरी दुनिया में अमीर हो या गरीब, नौकरीपेशा हो या उद्योगपति सभी, भोजन के लिए किसान की मेहनत पर आश्रित है। वहीं, पूरे साल दिन-रात, गर्मी, बारिश और ठंड की परवाह किए बिना किसान अपनी मेहनत से खेतों में फसलें उगाता है और पूरे देश की भूख मिटाने का काम करता है। इसलिए किसानों के परिश्रम को सम्मान देने के लिए हर साल किसान दिवस मनाया जाता है।
राष्ट्रीय किसान दिवस का इतिहास
भारत को कृषि प्रधान देश के रूप में इस दिन को मनाया जाता है। यहां की लगभग 50% आबादी अब भी ग्रामीण इलाकों में रहती है और आजीविका के लिए कृषि संबंधित कार्यों पर निर्भर हैं। इसलिए देश के विकास और अर्थव्यवस्था में किसानों के योगदान के बारे में लोगों को शिक्षित करने के लिए और देश भर में जागरूकता फैलाने के लिए हर साल 23 दिसंबर को राष्ट्रीय किसान दिवस मनाया जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here