बिरनपुर में मुस्लिमों को सताने लगी चिंता : क्या विधायक ईश्वर साहू मुस्लिम समुदाय का करेंगे विकास ?

रायपुर। छत्तीसगढ़ के साजा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी ईश्वर साहू ने कांग्रेस के दिग्गज पूर्व कृषि मंत्री रबिन्द्र चौबे को हरा दिया है.अब देखने वाली बात यह है कि क्या ईश्वर साहू मुस्लिम समुदाय वाले क्षेत्र में विकास करेगी या नहीं? यह सवाल हर एक के मान में उठ रहा है?

बता दे बीते कुछ महीने पहले सजा विधानसभा के बिरनपुर गांव में हिंदू और मुस्लिम के बीच दंगा हुआ था। इस दंगे में गांव के एक युवक को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने मस्जिद के सामने हत्या कर लाश को बीच सड़क पर फेक दिया था। मृतक युवक का नाम भुनेश्वर साहू पिता ईश्वर साहू उम्र 23 वर्ष था। जवान युवक की हत्या के बाद परिवार और गांव में दहशत का मौहोल बना हुआ था। जिसके बाद से पुरे बिरनपुर क्षेत्र में धारा 144 लागु कर दिया गया था।

Islamic Dress,ये हैं महिलाओं के इस्लामिक ड्रेस, जिस पर फ्रांस में छिड़ी हुई है बहस - 4 types of islamic dresses for women - Navbharat Times

भुनेश्वर साहू के पिता ईश्वर साहू के बेटे के हत्या के बाद अपने बेटे के लिए न्याय मांगने के लिए जगह- जगह दौड़ लगा रहा था। पर उन्हें कही न्याय नहीं मिल रहा था. सरकार द्वारा न्याय के तौर पर ईश्वर साहू को 10 लाख रूपए और परिवार में एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी मिल रहा था. ईश्वर साहू ने इस अवसर को ठुकरा दिया। उन्हें पता था कि इस पैसे और नौकरी से उसके बेटे को न्याय नहीं मिल सकता है.
वहीं इस मामले को देखते हुए भारती जनता पार्टी ने ईश्वर साहू को साजा विधानसभा से विधायक के लिए टिकट दिया गया. इसके बाद ईश्वर ने टिकट को स्वीकार कर राजनीती में कूद गए. अपने बेटे को न्याय दिलवाने के लिए उन्होंने यह तक नहीं देखा कि विपक्षी पार्टी मंत्री है और साजा विधानसभा से 7 बार विधायक रह चुके है. ईश्वर साहू ने ठान लिया था कि साजा विधानसभा से जितना है तभी उसके बेटे को न्याय मिलेगा। प्रत्याशी ईश्वर साहू ने जोरों से प्रसार- प्रचार किया और पुरे गांव – गांव में जाकर बैठक लिया।
मतदान के दिन साजा विधानसभा में सफलता पूर्वक चुनाव संपन्न हुआ. और फिर मतगणना के दिन चौका देने वाली खबर सामने आई मजदुर ईश्वर साहू ने कांग्रेस के दिग्गज नेता रबिन्द्र चौबे को हरा दिया . ईश्वर साहू ने जीत हासिल कर पुरे गांव में जश्न मानना शुरू कर दिया वही मुस्लिम समुदायक के लोग थोड़ा चिंतित हो गये. चिंता का विषय इसलिए बना था दरअसल मुस्लिम समुदाय वाले क्षेत्र में ईश्वर साहू विकास करवाएगा या नहीं। यह बात मुस्लिम समुदाय के लोगों को सताने लगा है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here