Human Trafficking  : छत्तीसगढ़ से ह्यूमन ट्रैफिकिंग का मामला, गैंग के लोग पढ़ाई-लिखाई के नाम पर नाबालिग बच्चियों का कर रहे तस्करी…

रिपोर्टर- महेंद्र पाल सिंह
Human Trafficking :  छत्तीसगढ़ के शिमला कहे जाने वाले मैनपाट से ह्यूमन ट्रैफिकिंग का मामला सामने आया है। ये केवल नाबालिक लड़कियों कों ही निशाना बनाकर दूसरे राज्यों में तस्करी कर है। मैनपाट में एक-एक कर नाबालिग लड़की  गायब हो रहे है। वही खबर है कि एक नाबालिग अब भी गायब है जिसके पिता लगातार अपनी बेटी को वापस लाने के लिए पुलिस से गुहार लगा रहा है। साथ ही कई और गायब हुए नाबालिग के परिजनों ने गुमशुदगी की शिकायत पुलिस में की थी जिसके बाद कुछ नाबालिग लड़कियों कों पुलिस ने बरामद कर परिजनों कों सौंप दिया है। वही कुछ नाबालिग लड़कियों का सुराग अब तक नही मिल पाया हैँ।
पढाई लिखे के नाम पर नाबालिक लड़कियों का हो रहा तस्करी

Chhattisgarh Girl Kidnapped, Sold 7 Times In Seven Months

जानकारी के अनुसार मैनपाट ब्लॉक के नर्मदापुर के अधिकतर नाबालिग लड़कियों कों पढ़ाई लिखाई के नाम पर उन्हें गैंग के लोग दूसरे राज्य ले जाते थे । कुछ वापस आई नाबालिग और उनके पिता से जब बात की गई तों चौकाने वाले खुलासे सामने आये है कि कैसे गरीब माँ बाप कों गुमराह कर पढ़ाई लिखाई के नाम पर ले जाते हैँ और अचानक नाबालिग लड़कियां गायब हो जाती हैँ।
नाबालिक लड़कियों को होटलों में कराया जा रहा काम
भोले भाले गरीब मां-बाप से उनके नाबालिग बच्चियों को पढ़ाई लिखाई के नाम पर ले जाते हैं लेकिन उन्हें पढ़ाई लिखाई की जगह होटलों में काम कराया जाता है। बता दें कि इसी गैंग के सदस्यों ने मैनपाट ब्लॉक अंतर्गत ग्राम पंचयात नर्मदापुर की एक 15 वर्षीय नाबालिग बच्ची कों पढ़ाई लिखाई के नाम पर ले गए हैँ बीते 9 महीने से बच्ची लापता हैँ। लापता नाबालिग बच्ची के पिता बेटी कों ढूंढ़ कर लाने की पुलिस से फरियाद लगा रहा है। लेकिन वह बच्ची कहा है इसका पता पुलिस भी नहीं लगा पा रही हैँ। नाबालिग के पिता का कहना है मैनपाट में इनके एजेंट है। जो माँ बाप कों गुमराह कर पढ़ाई लिखाई कराने के नाम पर नाबालिग बच्चों कों गैंग के हवाले कर दे रहे है। जिसके बाद नाबालिग से काम कराया जाता है। फिर अचानक बच्चियां गायब हो जाती हैं। यहां पूरा मानव तस्करी का खेल चल रहा है।
सरगुजा पुलिस अधीक्षक सुनील शर्मा ने बताया कि नाबालिग बच्चियां बलरामपुर जिले के राजपुर से लापता हुई है जिसकी वजह से शिकायत राजपुर थाने में की गई है लेकिन मामले में लापता बच्ची के पता लगाने के लिए आईजी ने विशेष टीम का गठन किया है। हमने मैनपाट ब्लॉक के कई इलाकों में पढ़ाई लिखाई के नाम पर बच्चियों के माता-पिता को गुमराह कर ले जाने के मामले में पुलिस ने शिकायत मिलने पर कार्रवाई करने की बात कही है।
पढ़ाई के नाम पर मैनपाट ब्लॉक के नाबालिग बच्चियों को ले जाकर पढ़ाई ना करा के होटलों में काम कराया जाने का मामला संगीन अपराध में आता है। इसके बावजूद पुलिस सिर्फ नाम मात्र कार्रवाई कर रही है फिलहाल लापता बच्ची को ढूंढ कर लाने की बात पुलिस जरूर कह रही है अब देखना होगा कि कब तक लापता बच्ची वापस अपने माता पिता के पास पहुंचती है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here