इंदौर 2023 : चड्‌डी, बनियान गैंग तक पहुंचने के लिए पुलिस को दो दिन आदिवासी भेष में पड़ा रहना

इंदौर 2023 : इंदौर में चार दिन पहले आतंक मचाने वाली चड्‌डी बनियान गैंग तक पहुंचने के लिए पुलिस को कभी मुस्किलो का सामना करना पड़ा है | पुलिस कर्मियों को पुरे दो दिन आदिवासी भेष में रहना पड़ा। रात में चोरी,डकैत जैसे कार्यो को अंजाम देते थे,पकड़े जाने के स्थिति में लोगों पर तीरों से हमला करते हैं, इसलिए पुलिस ने सुबह तक इंतजार किया। आखिरकार 16 जुलाई की रात को गैंग का एक सदस्य पाकिया पुत्र करण भूरिया पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पाकिया ने पूछताछ में कई खुलासे किए हैं।
पुलिस टीम ने पांच दिन की मेहनत के बाद CCTV फुटेज और मोबाइल डाटा की मदद से पाकिया को गिरफ्तार किया है। TI सुनील शर्मा ने बताया पाकिया अपनी बोलेरो गाड़ी से पूरी गैंग को अलीराजपुर और दाहोद बॉर्डर से इंदौर तक लाया था। गैंग में करीब 15 सदस्य हैं। बदमाशों को किराए पर लाया जाता है। काम पूरा होने के बाद उन्हें अच्छा पैसा देकर वापस भेज देते हैं। वे बॉर्डर एरिया में टीले पर घर बनाकर पुलिस पर नजर रखते थे। बायपास की कॉलोनियों को ही निशाना बनाते थे, ताकि वारदात करके आसानी से फरार हुआ जा सके। पाकिया ने गैंग के अन्य मेंबर्स के नाम भी बताए हैं। उनकी तलाश की जा रही हैं।
टीले पर रहते हैं इनके 150 परिवार
पाकिया ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि अलीराजपुर और दाहोद बॉर्डर के टीले पर करीब 150 परिवार बसे हैं। ये लोग लूटपाट, डकैती और चोरी जैसी वारदात करते हैं। पुलिस का मूवमेंट देखते ही रफूचक्कर हो जाते हैं। पाकिया वारदात के बाद से सोशल मीडिया पर आ रही खबरों को लेकर इंदौर पुलिस पर नजर बनाए हुए था। दो दिन से धानपुर पुलिस स्टेशन (दाहोद-गुजरात) पर भी नजर रख रहा था।
तीर लगने के डर से सुबह मारी दबिश
सर्चिंग के दौरान पुलिस को गुजरात से एक लिंक मिला था। इसके बाद पुलिस दाहोद के उस इलाके में पहुंची जहां यह पूरी गैंग सक्रिय है। यहां एसआई विशाल यादव, हेड कॉन्स्टेबल पंकज सांवरिया और अन्य स्टाफ आदिवासियों के भेष में घूमा। धानपुर पुलिस स्टेशन से उन्हें पाकिया की पुख्ता जानकारी मिल गई। रात में तीर के हमले से बचने के लिए अलसुबह दबिश दी। पाकिया तो पकड़ा गया, लेकिन बाकी के मेंबर फरार हो गए।
एक साथ 6 जगहों पर की थी डकैती
इंदौर के धार रोड पर चड्डी बनियान गैंग ने गुरुवार रात एक साथ आधा दर्जन स्थानों को निशाना बनाया। बदमाश सोने-चांदी के जेवर और नकदी लेकर फरार हो गए। बदमाशों ने फाउंडेशन और हाई लिंक सिटी सहित कई इलाकों में वारदात को अंजाम दिया। शुरूआत में पुलिस इस तरह की वारदात से इनकार करती रही, लेकिन सीसीटीवी में चड्‌डी बनियान गैंग का मूवमेंट मिलने के बाद चोरी का केस दर्ज किया
जांच के लिए टीम पहले गोधरा और फिर अहमदाबाद पहुंची। यहां से जैन परिवार और अन्य काम के लिए गए लोगों की दो गाड़ियों की जानकारी मिली। तीसरी गाड़ी का एड्रेस दाहोद के आरिफ का था। उसने ड्राइवर पाकिया के पास गाड़ी होने की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने पाकिया की डिटेल निकाली। धानपुर पुलिस स्टेशन पर आने-जाने की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने पाकिया को दबोच लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here