क्या महिलाओं में ‘HEART ATTACK‘ होता है ज्यादा खतरनाक!

Heart Attack : दुनियाभर में हार्ट की बीमारियों का खतरा बड़ी तेजी से बढ़ रहा है. यह एक जानलेवा बीमारी है. इससे पुरुष और महिलाएं दोनों प्रभावित हैं. हेल्थ रिपोर्ट के मुताबिक, कोरोना के बाद दिल से जुड़ी बीमारियां और भी गंभीर हुई हैं. इसके अलावा फिजिकल एक्टिविटी न होना, खानपान में गड़बड़ी, स्ट्रेस का बढ़ना हार्ट की दिक्कतें बढ़ा सकती हैं. इससे भी बड़ी चिंता की बात यह है कि महिलाओं और पुरुषों में इसके लक्षणों में भी अंतर देखा गया है. तो आईये जानते है कि, क्या महिलाओं और पुरुषों हार्ट अटैक अलग-अलग होता है क्या…
महिलाओं-पुरुषों में हार्ट अटैक के लक्षण
Heart Attack रिसर्चर का मानना है कि महिला और पुरुष में हार्ट अटैक के लक्षण अलग-अलग हो सकते हैं. हार्ट अटैक का सबसे सामान्य लक्षण सीने में दर्द है. पुरुषों में यह लक्षण ज्यादा देखने को मिलता है. हार्ट अटैक वाली 50 प्रतिशत महिलाओं में ही यह परेशानी देखी गई है.
क्या महिलाओं में हार्ट अटैक जानलेवा
Heart Attack अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन की रिपोर्ट के मुताबिक, हार्ट अटैक के एक साल के अंतर पुरुषों की तुलना में महिलाओं की जान का खतरा ज्यादा रहता है. हार्ट अटैक के कारण अस्पताल में भर्ती 65 साल या उससे ज्यादा उम्र के 50 हजार मरीजों पर अध्ययन करने के बाद इन चीजों को समझा गया है. इस रिपोर्ट के अनुसार, पहले हार्ट अटैक के 5 साल के अंदर मौत, हार्ट फेलियर या स्ट्रो का रिस्क 47% पाया गया है, जबकि पुरुषों में यह करीब 36% तक हो सकता है.
 पुरुषों में हार्ट अटैक के लक्षण
  • सीने में दर्द या बेचैनी
  • सांस लेने में दिक्कत
  • बाएं हाथ-जबड़े में दर्द
  • जी मिचलाना
महिलाओं में हार्ट अटैक के लक्षण
  • महिलाओं ने पीठ
  • गर्दन या जबड़े में दर्द
  • सीने में जलन-बेचैनी
  • चक्कर आने, जी मिचलाने की समस्या
  • सांस लेने में परेशानी और पसीना आने की समस्या

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here